13 साल का भारतीय बच्चा बना दुबई की सॉफ्टवेयर कंपनी का मालिकTechnicalTusharTechnicalTushar.In | Everything You Find

Header Ads

13 साल का भारतीय बच्चा बना दुबई की सॉफ्टवेयर कंपनी का मालिक


क्या आपको याद है कि जब आप 9-10 की उम्र यानि टीनेज में थे तो क्या करते थे? यकीनन अपने छोटे भाई-बहन से लड़ना झगड़ना, अपने पैरेंट्स से अपनी पॉकेट मनी बढ़वाने की जिद करना या फिर दोस्तों के साथ खेलने की जिद पर अड़े रहना बच्चों की आदत होती है। अपनी किशोरावस्था में महज 13 साल का यह बच्चा दुबई में एक सॉफ्टवेयर डिवेलपमेंट कंपनी का मालिक बन चुका है। इस होनहार बच्चे का नाम है आदित्यन राजेश। आदित्यन मूल रूप से केरल के रहने वाले हैं। चलिए आदित्यन के बारे में कुछ रोचक जानकारी आपको बताते हैं।

13 साल का बच्चा बना कंपनी का मालिक अब से 4 साल पहले आदित्यन ने 9 साल की उम्र में अपनी बोरियत को दूर करने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन बनाई थी। आदित्यन ने एक इंटरव्यू में बताया कि मैं जब नौ साल का था तब मैंने बोरियत खत्म करने के लिए पहली बार मोबाइल ऐप बनाया। तब से मैं लोगो और वेबसाइट्स डिजाइन कर रहा हूं।" आपको बता दें कि आज आदित्यन की कंपनी लोगों के लिए वेबसाइट डिजाइन कर रही है। 5 साल की उम्र में कम्प्यूटर का इस्तेमाल दुबई के एक अखबार खली टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक आदित्यन महज 5 साल का था और इतनी कम उम्र से ही उन्होंने कम्प्यूटर्स का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था। धीरे धीरे इनकी रुचि तकनीक की दुनिया में बढ़ने लगी और आदित्यन टेक्नोलॉजी मेजिशियन बन गए। कंपनी की शुरुआत 13 साल की उम्र तक आते आते इस किशोर ने अपनी ट्रिनेट सॉल्यूशंस कंपनी की शुरुआत की। कंपनी में तीन कर्मचारी हैं जो आदित्यन की ही उम्र के बच्चे हैं, आदित्यन के साथ पढ़ते हैं और उनके दोस्त हैं। बच्चों की वेबसाइट से हुए प्रभावित आदित्यन का कहना है कि उनका जन्म केरल के थिरुविल्ला में हुआ था लेकिन जब वो महज़ पांच साल के थे तो उनका पूरा परिवार दुबई में शिफ्ट हो गया था। आदित्यन ने बताया कि उनके पिता ने उनको बच्चों के टाइपिंग सीखने की एक वेबसाइट दिखाई थी जिसका नाम बीबीसी टाइपिंग था।   18 साल की उम्र में बनेंगे कानूनी तौर पर मालिक हालांकि 13 साल की कम उम्र में आदित्यन ने करिश्मा तो कर दिखाया है लेकिन कानूनी तौर पर अपनी कंपनी ट्रिनेट का मालिक बनने के लिए आदित्यन की उम्र 18 साल होनी चाहिए यानि पांच साल बाद आदित्यन राजेश अपनी कंपनी पर मालिकाना क हासिल कर सकेंगे और मालिक के तौर पर काम कर पाएंगे।

उनकी कंपनी की कुछ डिटेल्स पूछे जाने पर आदित्यन ने बताया कि फिलहाल उनकी कंपनी 12 से भी अधिक कस्टमर्स के लिए काम कर रही है और उन्हें अपनी डिजाइन और कोडिंग सर्विस फ्री में उपलब्ध करा रही है।

Credit : Article By Hindi.Gizbot
Powered by Blogger.